Thursday, July 11, 2024

जीतन राम मांझी के बयान पर छिड़ा विवाद, बीजेपी विधायक ने कहा- उनकी जीभ काटने वाले को दूंगा 11 लाख का इनाम

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी द्वारा ब्राह्मणों को लेकर दिए गए बयान पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। एक के बाद एक नेता उनके द्वारा की गई अभद्र टिप्पणी पर नाराज़गी जाहिर कर रहे हैं। इस बीच भारतीय जनता पार्टी के विधायक गजेंद्र झा ने पूर्व सीएम के बयान को लेकर बड़ी घोषणा कर दी है। उन्होंने दावा किया है कि जो भी व्यक्ति दशरथ राम मांझी की ज़बान काटकर लाएगा उसे 11 लाख रुपये का नकद इनाम दिया जाएगा। बीजेपी विधायक द्वारा की गई इस घोषणा के बाद राजनीति के गलियारों में हलचल तेज़ हो गई है।

मांझी की जबान काटने वाले को मिलेंगे 11 लाख- गजेंद्र झा

मीडिया को संबोधित करते हुए गजेंद्र झा ने मांझी पर आरोप लगाया कि उन्होंने जानबूझकर सनातन धर्म के खिलाफ टिप्पणी की है। ऐसा वे बार-बार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि, ‘अगर मांझी हिंदू सनातन धर्म को नहीं मानते हैं तो उन्हें धर्म परिवर्तन कर लेना चाहिए। जो भी ब्राह्मण का बेटा समुदाय के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने वाले मांझी की जुबान काटेगा, उसे 11 लाख रुपये का नकद इनाम दिया जाएगा।’

‘हम’ की भाजपा को चुनौती, किसकी मां ने दूध पिलाया है जो मांझी की जुबान काटेगा

भाजपा विधायक द्वारा किए गए इस ऐलान के बाद हिंदुस्तान युवा मोर्चा के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि ‘किसकी मां ने दूध पिलाया है जो जीतनराम मांझी जी की जुबान काट लेगा। क्या ये दलितों का अपमान नहीं है। पूर्व मुख्यमंत्री ने जब उस बयान को लेकर खेद प्रकट कर लिया है तो इसके बाद ये किस तरह की राजनीति की जा रही है। जब दलितों को थूक चटवाया जाता है तो बीजेपी के ये नेता बिल में घुस जाते हैं और आज बड़ी जुबान खुल रही है।’

शराब का सेवन करते हैं मांझी- राजद

मालूम हो, हिंदुस्तान आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी द्वारा ब्राह्म्णों को लेकर दिए गए बयान के बाद बिहास की सियासत में भूचाल आ गया है। राष्ट्रीय जनता दल के नेता शिवानंद तिवारी के पुत्र राहुल तिवारी ने तो यहां तक कह डाला कि मांझी शराब का सेवन करते हैं इसलिए इस तरह की टिप्पणी करते हैं। तिवारी ने कहा कि थोड़ी-थोड़ी पिया करो जैसे बयान देने वाले जीतन राम मांझी खुद नशे में चूर हैं। जो बयान मांझी दे रहे हैं वह साफ दर्शाता है कि वह शराब का सेवन करते हैं। शराब के नशे में मांझी अनाप-शनाप बयान देते रहते हैं।

मानसिक रुप से बीमार हैं मांझी- बीजेपी

ऐसा ही हाल बिहार में भारतीय जनता पार्टी का भी है। एनडीए के घटक दल होने के कारण संपूर्ण बीजेपी ने जीतन राम मांझी पर निशाना साधा है। बीजेपी के तमाम नताओं ने पूर्व सीएम द्वारा दिए गए बयान का विरोध किया है और उन्हें मानसिक रुप से बीमार बताया है।

बीजेपी नेता गजेंद्र झा ने मांझी द्वारा दिए गए विवादित बयान पर चर्चा करते हुए कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री ने अपनी संवेदनाएं खो दी हैं। इसके अलावा उन्होंने  ब्राह्मणों को चेतावनी देते हुए कहा कि, ‘होशियार हो जाइए यदि यही रवैया रहा तो इस सरजमीं पर रहना मुश्किल हो जाएगा।’

मांझी सम्मेलन को संबोधित करते हुए दिया था विवादित बयान

गौरतलब है, पिछले दिनों मांझी समाज के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने ब्राह्मणों को लेकर विवादित टिप्पणी की थी। उन्होंने ब्राह्मणों के विषय में बात करते हुए अपमानजनक शब्द का इस्तेमाल किया था। मांझी ने कहा था कि “आज कल हमारे गरीब तबके में धर्म की परायणता ज्यादा आ रही है। सत्य नारायण पूजा का नाम हम नहीं जानते थे लेकिन ‘साला’ अब हम लोगों के हर टोला में उनकी पूजा हो रही है। पंडित ‘हरामी’ आते हैं और कहते हैं कि हम खाएंगे नहीं, हमको नगद ही दे दीजिए।”

हालांकि, इस टिप्पणी पर विवाद बढ़ने के बाद जीतनराम मांझी ने माफी मांग ली थी। उन्होंने अपने बयान पर शर्मिंदगी जताते हुए दावा किया था कि विवादास्पद शब्द का प्रयोग उन्होंने अपने समाज के लोगों के लिए किया था।

 

 

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here