Sunday, April 14, 2024

महाराष्ट्र में बंदरों और कुत्तों के बीच ‘खूनी संघर्ष’, 80 पिल्ले गँवा चुके है जान

- Advertisement -
- Advertisement -

अक्सर आपने इंसानों के बीच होने वाले खूनी संघर्ष के विषय में सुना होगा। लेकिन क्या आपने जानवरों के बीच होने वाली लड़ाईयों के विषय में सुना है। आज हम आपको ऐसी ही एक सच्ची घटना से रुबरु करवाने जा रहे हैं। दरअसल, महाराष्ट्र के बीड से एक ऐसी घटना सामने आई है जिसमें बंदरों और कुत्तों के बीच ऐसी जंग छिड़ गई है। इस जंग में बंदरों ने करीब 80 पिल्लों को मौत के घाट उतार दिया है।

80 पिल्लों को उतारा मौत के घाट

जानकारी के मुताबिक, महाराष्ट्र के बीड जिले में पिछले 3 महीनों से जानवरों के बीच चल रही रंजिश में करीब 80 पशुओं की दर्दनाक मौत हो चुकी है। इस घटना से पूरे इलाके में सनसनी फैली हुई है। लोगों के बीच दहशत का माहौल है।

3 माह पूर्व शुरु हुई ‘जंग’

स्थानीय लोगों के मुताबिक, बंदरों और कुत्तों के बीच चल रही इस जंग को शुरु हुए लगभग 3 महीने से ऊपर का समय बीत चुका है। बंदरों के आतंक से घबराए गावं वासियों ने इसकी सूचना वन विभाग को दी है।

वन विभाग ने पकड़े कई आतंकी बंदर

सूचना मिलते ही नागपुर वन विभाग प्रशासन के बीच हड़कंप मच गया जिसके बाद विभाग की कई टीमों ने बंदरों को पकड़-पकड़कर उन्हें वहां से दूर पहुंचाया। इस पूरी घटना पर वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि पिल्लों की मौत भूख और प्यास से हो जाती है। दरअसल, जांच के दौरान पता चला है कि बंदर पिल्लों को अपने साथ ले जाते हैं। वहां उन्हें खाना-पीना कुछ नहीं मिलता है, इससे उनकी मौत हो जाती है।

कुत्तों से हुई थी जंग की शुरुआत

वहीं, स्थानीय लोगों ने इस घटना पर रौशनी डालते हुए बताया कि तीन माह पहले कुत्तों ने बंदर के एक बच्चे को मार डाला था। इसके बाद से ही बंदर कुत्तों से बदला ले रहे हैं। बंदर कुत्तों के पिल्लों को उठाकर ले जाते हैं और उन्हें ऊंची इमारतों या पेड़ से नीचे फेंक देते हैं।

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here