Thursday, April 18, 2024

टेढ़ा हुआ मुंह, पलक तक नहीं झपका पा रहे सिंगर जस्टिन बीबर, 28 वर्ष की उम्र में हुई ये गंभीर बीमारी

- Advertisement -
- Advertisement -

इंटरनेशनल सिंगर जस्टिन बीबर ने बहुत ही कम उम्र में पूरी दुनिया में अपना नाम किया। हर देश में उनके चाहने वाले हैं और लोग उन्हें खूब प्यार करते हैं. लेकिन अब जस्टिन के चाहने वालों के लिए एक बुरी खबर आई है. महज 28 वर्ष की उम्र में ही जस्टिन बीबर एक गंभीर बीमारी से पीड़ित हो गए हैं. इस बीमारी की वजह से उनका मुंह टेढ़ा हो गया है और वो पलक तक नहीं झपका प् रहे हैं. इसकी जानकारी खुद जस्टिन ने दी है.

हुई ये बीमारी-

मशहूर सिंगर जस्टिन बीबर को महज 28 वर्ष की उम्र में जो बीमारी हुई है उसका नाम रामसे हंट सिंड्रोम है. इस वजह से उनका आधा चेहरा पैरालाइज हो गया है. वो ठीक से बोल नहीं पा रहे हैं और न ही वो पलक झपका प् रहे हैं. उनका एक तरफ का चेहरा पूरा पैरालाइज हो गया है. रामसे हंट सिंड्रोम नामक बीमारी का जस्टिन पर इस कदर असर हुआ है की वो आजकल मुश्किलों में घिर गए हैं.

खुद वीडियो जारी कर दी जानकारी-

पिछले कुछ दिनों में जस्टिन एक के बाद कई सारे शोज लगातार कैंसिल कर रहे थे. ऐसे में आयोजकों के बीच जस्टिन को लेकर अच्छा ख़ासा गुस्सा था और उनके फैंस भी कुछ नाराज चल रहे थे. इस नाराजगी के बाद जस्टिन ने लोगों के लिए एक वीडियो जारी किया। वीडियो में सामने आने के बाद उन्होंने बताया की आखिर वो किस बीमारी से पीड़ित हैं. जस्टिन ने कहा कि-‘ एक वायरस की वजह से यह बीमारी मुझे हुई है. मैं इससे परेशान हो गया हूँ. आप देख पा रहे होंगे की मैं पलक नहीं झपका पा रहा हूँ और न ही मैं स्माइल कर सकता हूँ.

कई शोज हुए कैंसिल-
आपको बता दें की इस बीमारी की वजह से जस्टिन के कई देशों में शोज कैंसिल हो गए हैं. वो लगातार अपने शोज कैंसिल कर रहे थे. इस वजह से लोगों के बीच काफी गुस्सा पनप रहा था और हर कोई इसकी वजह जानना चाहता था. इसके बाद जस्टिन ने वीडियो जारी कर सभी को इस मामले की जानकारी दी है. भारत में भी उनका शो होना था लेकिन वो भी कैंसिल हो गया है.

क्या है रामसे हंट सिंड्रोम-
हर्पीज जोस्टर ओटिकस नाम के वायरस की वजह से हुई यह बीमारी दाद से शुरू होती है. जस्टिन बीबर को यही हुआ है. अगर आपको चिकन पॉक्स हुआ है या फिर आपकी उम्र ज्यादा है या फिर आपकी इम्युनिटी कमजोर है तो आप इस बीमारी से पीड़ित हो सकते हैं. इसमें चेहरे के आसपास की नसें पूरी तरह से कमजोर हो जाती हैं. इससे व्यक्ति धीरे धीरे बहरा भी होने लगता है.

- Advertisement -
Ambresh Dwivedi
Ambresh Dwivedi
Writer, news personality
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here