Thursday, July 18, 2024

पति और बेटियों से बहुत प्यार करतीं थी श्रीदेवी, मौत से पहले बार बार देख रहीं थी बेटी की फिल्म ‘धड़क” का पोस्टर

चार साल की उम्र से फ़िल्मी दुनिया में कदम रखने वाली श्रीदेवी ने हिंदी सिनेमा, तमिल, तेलगु और मालयम में 100 से ज़्यादा फिल्मो में काम किया है. श्रीदेवी को बॉलीवुड में अपना नाम बनाने में ज़्यादा समय नहीं लगा, कम समय में वे बॉलीवुड की शीर्ष अभिनेत्री बन चुकीं थी.

बात की जाये उनकी निजी ज़िन्दगी की तो श्रीदेवी ने 2 जून 1996 को फिल्म प्रोडूसर बोनी कपूर से शादी की थी. बोनी कपूर पहले से शादी मगर श्रीदेवी से मिलकर उन्होंने अपनी पहली पत्नी से तलाक ले लिया था. श्रीदेवी अपनी दोनों बेटियों से बहुत प्यार करतीं थी, वे उनके साये की तरह थीं, साथ ही दोनों बेटियां जहान्वी कपूर और ख़ुशी कपूर अपनी माँ को सब कुछ बताते थे, और हर काम उनसे पूछकर ही किया करतीं थी. श्रीदेवी अपनी मौत से पहले बेटी जहान्वी कपूर की फिल्म धड़क का बेसब्री इंतज़ार कर रहीं थी, यहाँ तक की वे बार बार फिल्म का पोस्टर भी देखा करतीं थी.

2012 में किया था कमबैक

4 साल उम्र में साऊथ इंडियन फिल्मों में काम करने वालीं श्रीदेवी लोकप्रियता कुछ यूँ बढ़ी की देशभर में उनकी मांग होने लगी. लोकप्रियता इतनी की उन्हें बॉलीवुड की पहली फीमेल एक्ट्रेस कहा जाने लगा. अपने पूरे करियर में श्रीदेवी ने कुल 6 फिल्मफेयर अवार्ड जीते, तीन बॉलीवुड यानि हिंदी सिनेमा के, 2 तमिल और 1 तेलगु के लिए. अपने पूरे करियर काल में श्रीदेवी ने न सिर्फ अवार्ड जीते बल्कि लोगो का दिल भी जीता.

स्क्रीन पर श्रीदेवी लोगो में उत्साह जाग जाया करता कारण श्रीदेवी ने 1997 में फिल्म जुदाई के बाद फिल्मो में काम कर दिया था. लेकिन उसके बाद श्रीदेवी ने 2012 में इंग्लिश-विंग्लिश के साथ वापसी की, जो बॉक्स ऑफिस पर हिट हुई थी. आखिरी फिल्म ‘मॉम’ के साथ उन्होंने करियर की 300 कर ली थी जिसके लिए उन्हें राष्ट्रिय पुरस्कार से नवाज़ा गया था.


करियर के शुरुआत से आखिर तक चमकने वालीं बॉलीवुड की चांदनी 24 फरवरी 2018 में दुनिया को अलविदा कह चुकीं थी. अचानक हुई उनकी मौत सभी के लिए किसी रहस्य से काम नहीं थी. श्रीदेवी की मौत सभी के ज़हन में सवालों का एक गुच्छा छोड़कर गयी थी. पुलिस हो या डॉक्टर या कोई आम इंसान हर किसी के ज़हन में सवालो का जाल बिछा हुआ है. सवाल जैसे ने अल्कोहल खुद लिया या किसी ने जानबूझ कर ज्यादा दे दी? बाथटब में पानी लबालब कैसे भरा था? बाथटब में श्रीदेवी को बेहोश देखने के बाद बोनी कपूर ने पुलिस या होटल स्टाफ को फोन करने की बजाए अपने दोस्त को सबसे पहले फोन क्यों किया? इस आर्टिकल में आपको इन सवालों मिलेंगे.

48 घंटे तक कमरे में अकेली थी श्रीदेवी

जानकारी के अनुसार श्रीदेवी ने 24 फरवरी यानी गुरूवार की दोपहर को चेक इन किया. इसके बाद अगले 48 घंटे तक वो अपने कमरे में ही अकेली रहीं. श्रीदेवी जब बहार निकलीं तब तक उनकी मौत हो चुकी थी. पहली खबर के अनुसार डॉक्टर ने बताया था की बाथटब की हालत देख क्र मौत की वजह कार्डियक अरेस्ट को बताया, लेकिन बाद में पोस्टमार्टम रिपोर्ट्स के अनुसार डॉक्टर्स ने बयान बदल दिया था. तब उन्होंने कहा की मौत की वजह बाथटब में डूबना है.

श्रीदेवी की मौत कई बातें और बयान सामने आये थे, जिन्होंने कई अफवाहों को भी जन्म दिया. लेकिन किसी भी नतीजे पर पहुंचने से पहले दो बातों को ध्यान में रखना बेहद ज़रूरी है . पहली ये कि दुबई पुलिस ने साफ कर दिया है कि श्रीदेवी की मौत एक हादसा है कोई साज़िश नहीं.


कार्डियक अरेस्ट की यदी बात की जाए तो श्रीदेवी अपनी सेहत को लेकर और फिटनेस को लेकर काफी सजग थीं. आमतौर पर लम्बे समय से बीमार रहने वाला इंसान और खानपान पर ध्यान न वाले व्यत्कि को हो कार्डियक अरेस्ट आ सकता है. वहीँ दूसरी तरफ लोग यह भी कह रहे है की श्रीदेवी खूबसूरत दिखने के लिए दवाइयों का इस्तेमाल करतीं थी, इसलिए उन्हें कार्डियक अरेस्ट आया.

श्रीदेवी की मौत के बाद नाहटा से की थी बोनी कपूर ने खुलकर बात

श्रीदेवी की जिस रात मौत हुई, जिस कमरे में वे ठहरी हुई थी इन सबसे जुड़े कई सवाल लोगो को ज़हन में होंगे की श्रीदेवी की मौत कोई घटना थी या हादसा. उस रात के बारे में बोनी कपूर ने कुछ समय बाद अपनी दोस्त ट्रेड एनालिस्ट नाहटा से खुलकर बातचीत की थी. यह तो आप जानते की श्रीदेवी बोनी कपूर अपने भतीजे की शादी के लिए थे, शादी 20 को संपन्न हो चुकी थी. बोनी कपूर ने बताया था की लखनऊ में मीटिंग थी जिसके लिए वे शादी के बाद वापस मुंबई लौट आये थे.

लेकिन श्रीदेवी दुबई में ही में ही रुक गयीं थी. बोनी कपूर नाहटा से शेयर करते हुए बताते है की “24 फरवरी की सुबह मेरी श्रीदेवी से बात हुई, जब उसने मुझे बताया, ‘पापा (श्रीदेवी बोनी को यही बुलाती थीं), मैं आपको मिस कर रही हूं.’ लेकिन मैंने उन्हें नहीं बताया कि मैं शाम को उनसे मिलने दुबई आ रहा हूं. जाह्नवी भी चाहती थी कि मैं दुबई आऊं क्योंकि उसे डर था कि उसकी मां, जिन्हें अकेले रहने की आदत नहीं थी, अपना पासपोर्ट या कोई ज़रूरी दस्तावेज़ खो सकती थीं.”

श्रीदेवी-बोनी टीनएज प्रेमियों के तरह लगे थे एक दूसरे के गले

बोनी कपूर ने जब श्रीदेवी को अचानक उनके कमरे में पहुंचकर सरप्राइज दिया तब श्रीदेवी को बिलकुल उम्मीद नहीं थी की वे उनसे मिलने दुबई आएंगे. सरप्राइज के बारे में नाहटा को बताते हुए बोनी कपूर रो पड़े थे और सुबकते हुए कहा, “उन्होंने (श्रीदेवी ने) मुझसे कहा कि उन्हें अंदाज़ा था कि मैं उनसे मिलने दुबई आ सकता हूं.” दोनों एक रोमांटिक डेट के लिए मन बना चुके थे, इतने मई श्रीदेवी नहाने बाथरूम में गयीं और बाहर सिर्फ उनके मौत की खबर आयी. बोनी कपूर ने बताया था की वे करीब 10-15 मिनट लगाते रहे, जवाब न मिलने उन्होंने दरवाज़ा तोडा तो वे हक्क बक्क रह गए.

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here