Saturday, June 22, 2024

‘तिरंगा’ के गुंडास्वामी का छलका दर्द, बोले- “लोगों ने मुझे भुला दिया..”

किसी भी फिल्म का सुपरहिट होना इस बात पर निर्भर करता है कि विलेन ने हीरो को उसकी हीरोगिरी दिखाने के लिए कितना मजबूर किया। भारतीय सिनेमा में हमेशा से विलेन्स का बोलबाला रहा है। हिंदी फिल्मों ने देश की जनता को एक से एक खूंखार विलेन दिए हैं जिन्होंने हमेशा अपनी एक्टिंग से हर किसी का मनोरंजन किया है।

आज हम आपको ऐसे ही एक व्यक्ति के विषय में बताने जा रहे हैं जिन्होंने अपनी एक्टिंग से हिंदुस्तान के हर घर में पहचान स्थापित की लेकिन आज वे गुमनामी के अंधेरे में जीने को मजबूर हैं।

हम बात कर रहे हैं तिरंगा फिल्म में गुंडास्वामी प्रलयनाथ का किरदार निभाकर फेमस होने वाले दीपक शिर्के की। उन्होंने अपनी जबरदस्त एक्टिंग से फिल्म जगत के सुपरस्टार राजकुमार को भी इंप्रेस कर दिया था।

कहा जाता है कि फिल्म की रिलीज़ के बाद राजकुमार ने खुद दीपक शिर्के को फोन करके उनकी अदाकारी के लिए बधाई दी थी।

deepak shirke

बचपन से थी फिल्मों में एक्टिंग की चाहत

बता दें, दीपक का जन्म 1937 में महाराष्ट्र में हुआ था। उनके पिता खेती-बाड़ी करके अपना और चार बच्चों का पेट पालते थे। दीपक चारों भाई-बहनों में सबसे बड़े थे। इसलिए उनपर जिम्मेदारी भी अधिक थी। वे स्कूल के बाद पिता की मदद के लिए खेतों में भी जाया करते थे। लेकिन उनका मन इन सब कामों में नहीं लगता था। वे शुरुआत से ही फिल्मों के शौकीन थे। वे एक्टर बनना चाहते थे। यही वजह थी कि वे अक्सर स्कूल से गुटली मारकर थिएटर पहुंच जाया करते थे।

दीपक ने कुछ सालों तक यहां एक्टिंग के गुण सीखे। बाद में साल 1976 में उन्हें मराठी नाटक में काम करने का मौका मिला था। धीरे-धीरे वे एक थिएटर आर्टिस्ट के नाम से मशहूर हो गए थे।

deepak shirke

अग्निपथ से बदली जिंदगी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, दीपक शिर्के के जीवन में टर्निंग प्वॉइंट वो आया जब उन्हें सदी के महानायक अमिताभ बच्चन के साथ उनकी फिल्म अग्निपथ में काम करने का मौका मिला था। इस फिल्म में उनकी एक्टिंग को खूब सराहना मिली थी। इसके बाद दीपक ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। उन्हें एक के बाद एक सुपरहिट फिल्म में काम करने का मौका मिला।

वहीं, साल 1993 में दीपक शिर्के ने अपने ज़माने के नामचीन कलाकार राजकुमार के साथ तिरंगा मूवी में काम किया था। इस फिल्म में उन्होंने गुंडास्वामी प्रलयनाथ का किरदार निभाकर खूब सुर्खियां बटोरीं थीं।

deepak shirke

दीपक शिर्के का छलका दर्द

लेकिन सिनेमा के बदलते दौर में दीपक जैसे तमाम एक्टर्स अब पीछे छूटते जा रहे हैं। धीरे-धीरे इन स्टार्स को काम मिलना बंद होता जा रहा है। ऐसा ही हाल इस वक्त दीपक का है। हाल ही में गुज़रे ज़माने के प्रसिद्ध विलेन दीपक शिर्के ने एक इंटरव्यू में अपना दर्द बयां किया था। उन्होंने बताया था कि अब लोग उन्हें भूल गए हैं। वर्तमान में एक्टर छोटी-मोटी मराठी फिल्मों में एक्टिंग करके अपना गुजर-बसर कर रहे हैं।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here