Thursday, February 22, 2024

‘महाभारत’ के भीम पर छाया आर्थिक संकट, इस बात पर सरकार से है नाराज

- Advertisement -
- Advertisement -

आज से तीन दशक पहले दूरदर्शन पर प्रसारित होने वाला महाभारत सीरियल तो हर किसी को याद ही होगा। बीआर चोपड़ा द्वारा निर्देशित यह टीवी शो उन दिनों भारत का सबसे लोकप्रिय था। एक्टर्स की एक्टिंग और उनकी सहजता ने लोगों का दिल जीत लिया था। इन सबमें सबसे अधिक पसंद किया जाना वाला किरदार था भीम का। इस रोल को पंजाब के अमृतसर के पास सरहली गांव के निवासी प्रवीण कुमार सोबती ने निभाया था। अन्य कलाकारों के मुकाबले प्रवीण को ज्यादा ख्याति प्राप्त हुई थी। इसकी वजह थी उनका लंबा-चौंड़ा, हष्ट-पुष्ट शरीर। 6 फुट के गदाधारी भीम ने जब कौरवों को ललकारा था उस दौरान कौरवों के साथ-साथ दर्शकों के भी पसीने छूट गए थे।

एक्टर ने लगाई मदद की गुहार

अपनी दिलचस्प एक्टिंग और फिटनेस से लोगों के दिलों में घर बनाने वाले प्रवीण सोबती अक्सर सुर्खियों में रहते थे। लेकिन टीवी के बदलते दौर और एक्टिंग के तौर-तरीकों के चलते ज़माना बदलने लगा और लोगों ने उन्हें भुला दिया। इस बात की शिकायत करते हुए 76 वर्षीय प्रवीण ने बताया कि लोगों ने उन्हें अब पूरी तरह से भुला दिया है। उन्होंने अपनी आर्थिक स्थिति के विषय में बात करते हुए कहा कि मेरी आर्थिक स्थिति इस समय ठीक नहीं है। इसलिए मैं पंजाब की चन्नी सरकार से आर्थिक सहायता की गुहार लगाता हूं।

आर्थिक संकट से जूझ रहे प्रवीण

बता दें, महाभारत में भीम का किरदार निभाने वाले प्रवीण की आर्थिक स्थिति बिल्कुल भी ठीक नहीं है। इस बात की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि पंजाब में बनने वाली सभी सरकारों से मुझे शिकायत है, जितने भी खिलाड़ी एशियन गेम्स खेलते हैं या मेडल जीतते हैं, उन्हें पेंशन दी जाती है। उन्होंने राज्य की सरकारों पर आरोप लगाते हुए कहा कि इस अधिकार से मुझे वंचित रखा गया।

“अर्जुन अवॉर्ड” से सम्मानित किये जा चुके प्रवीण

मालूम हो, टीवी इंडस्ट्री में कदम रखने से पहले प्रवीण एक अच्छे स्पोर्ट्स पर्सन थे। उन्होंने हैमर और डिस्कस थ्रो में पूरे एशिया में रिकॉर्ड स्थापित किया था। वे ओलंपिक में भारत का दो बार प्रतिनिधित्व भी कर चुके हैं। दो बार ओलंपिक, फिर एशियन, कॉमनवेल्थ में कई गोल्ड, सिल्वर मेडल हासिल कर चुके प्रवीण को साल 1967 में खेल जगत के सर्वोच्च पुरुस्कार ‘अर्जुन अवॉर्ड’ से सम्मानित किया गया था।

यही वजह थी कि उनकी सीमा सुरक्षा बल में डिप्टी कमांडेंट के पद पर तैनाती हो गई थी, हालांकि उन्होंने इसे छोड़ दिया था। नौकरी त्यागने के बाद प्रवीण ने एक्टिंग की दुनिया में कदम रखा और ख्याति प्राप्त की।

कोरोना ने बताई रिश्तों की सच्चाई

गौरतलब है, एक टीवी चैनल को दिए हुए इंटर्व्यू में भीम ने खुलासा किया कि कोरोना ने रिश्तों की सच्चाई को बयां किया है। उन्होंने कहा कि सब रिश्ते खोखले हैं। मुश्किल वक्त में कोई सहारा तो दूर अपने भी भाग जाते हैं।

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here