Sunday, April 14, 2024

इस पांच गांवों के लिए अभिशाप बना ताजमहल, युवाओं की नहीं हो पा रही शादी

- Advertisement -
- Advertisement -

हर किसी के मन में एक सपना होता है कि वो एक ऐसा घर बनाएगा जो ताजमहल सा खूबसूरत हो. दुनिया की सबसे खूबसूरत इमारतों में शुमार ताजमहल जैसे घर बनाने के सपने हर कोई देखता है लेकिन क्या हो जब आपका घर ताजमहल के आसपास स्थित हो और आप रोजाना इसका दीदार कर सकें।

हो सकता है ये पढ़ने के बाद आपके मन में ख़ुशी छलक जाए की ताजमहल के पास घर होगा लेकिन ताज के पास घर होना कुछ लोगों के लिए अभिशाप बन गया है. अभिशाप ऐसा कि इन पांच गांवों में युवाओं के लिए कोई रिश्ता नहीं आता और लोग परेशान हो जाते हैं.

ये हैं वो गांव-

हम बात कर रहे हैं पांच गांवों की जिनके नाम है गढ़ी बंगस, नगला पैमा, तल्फ़ी नगला, अहमद बुखारी और नगला ढींग। इन गांवों के लिए रास्ता ताजमहल के ठीक बगल से होकर गुजरता है और सुरक्षा कारणों से इन गांवों में प्रवेश कर पाना अपने आप में टेढ़ी खीर है. सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अपनी निगरानी में लिए जाने के बाद इन गांवों में जाने वाली रास्तों पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

इन गांवों में प्रवेश करने के लिए आपको पास बनवाना होता है जिसके अलग झमेले हैं. ग्रामीणों का तो पास बना है लेकिन बाहर से आने वाला कोई रिश्तेदार, दोस्त को पास बनवाना पड़ता है और इससे वो परेशान हो जाता है. जगह-जगह पर बने चेक पॉइंट्स की वजह से लोग परेशान हो जाते हैं और इन गांवों में आना ही नहीं चाहते।

नहीं आता रिश्ता-

इस गांवों की हालत ऐसी हो गई है कि गांव में लगभग 40 प्रतिशत युवा कुंवारे हैं लेकिन कोई रिश्ता लेकर नहीं आना चाहता है. हर कोई बार-बार होने वाले वेरिफिकेशन और चेकिंग से परेशान हो जाता है. ग्रामीण इस समस्या से बहुत परेशान हैं और कई लोग गांव छोड़कर जा भी चुके हैं. बीमार होने की स्थिति में गांव में केवल सरकारी एम्बुलेंस आ सकती है. इन गांवों के रास्तों पर सुबह शाम थोड़ी देर के लिए बैटरी रिक्शा चलने की अनुमति होती है. अब इतनी सुरक्षा के बीच कोई क्यों ही वह जाना चाहेगा।

दुनिया की सबसे खूबसूरत इमारत के पास रहने वाले लोगों का दुःख आप भी अच्छे से समझ सकते होंगे। इन गांवों में जाना आसान नहीं है. सोचिए अगर आप घर इन गांवों में होता तो आपका जीवन कैसा होता।

- Advertisement -
Ambresh Dwivedi
Ambresh Dwivedi
Writer, news personality
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here