Sunday, April 21, 2024

विक्की डोनर से पहले इस हॉस्पिटल में स्पर्म डोनेट कर चुके थे आयुष्मान खुराना

- Advertisement -
- Advertisement -

छोटे शहरों की कहानियों को दिखाती सामाजिक संदेश देने वाली फिल्मों में काम करने के लिए आयुष्मान प्रसिद्ध हैं। आयुष्मान की आने वाली फिल्म ‘अनेक’ के ट्रेलर को सोशल मीडिया में सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली है और फ़िल्म को लेकर युवाओं के बीच काफी उत्साह नज़र आ रहा है।

आयुष्मान ने सन 2012 में जॉन अब्राहम निर्मित फ़िल्म ‘विक्की डोनर’ से अपने करियर की शुरुआत की थी। इस वर्ष उन्होंने बॉलीवुड में अपने 10 वर्ष पूरे किए। एक टैबू टॉपिक पर बनी फिल्म के निर्देशक शूजित सरकार थे। इस फ़िल्म में आयुष्मान खुराना ने एक स्पर्म डोनर का किरदार निभाया था। फ़िल्म की हेरोइन यामी गौतम की भी यह पहली फ़िल्म थी। अन्नू कपूर इसमें डॉक्टर बलदेव चड्ढा के किरदार में दिखे थे जिसने फ़िल्म के नायक को स्पर्म डोनेशन के लिए प्रोत्साहित किया।

आयुष्मान खुराना

इस फ़िल्म ने भारत के युवाओं को स्पर्म डोनेशन और फर्टिलिटी आदि विषयों पर खुल कर बात करने का राह दिखाया। छोटे शहर और गांव के लोग तो स्पर्म डोनेशन के बारे में जानते तक नही थे। लगभग 15 करोड़ के बजट में बनी इस फ़िल्म ने 60 करोड़ से ऊपर का व्यवसाय किया था, साथ ही समीक्षकों की वाहवाही भी बटोरीं।

2004 में रोडीज के विजेता रहे थे आयुष्मान खुराना

आयुष्मान के किरदार ने फ़िल्म में अनेकों बार स्पर्म डोनेशन किए, लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस फ़िल्म के आने से कई वर्ष पहले आयुष्मान स्पर्म डोनेशन कर चुके थे।
ये बात तब की है जब आयुष्मान एमटीवी रोडीज़ में प्रतिभागी थे। 2004 में प्रसारित हुए रोडीज़ के द्वितीय सीजन के आयुष्मान विजेता रहे थे।

आयुष्मान खुराना

आयुष्मान बताते हैं कि रोडीज़ के शूट के समय एक दिन उनके होस्ट रणविजय उनके कमरे में आते हैं और सबको बताते हैं कि सभी लड़कों को स्पर्म डोनेट करना पड़ेगा। जितनी भी लड़कियां हैं उनको लड़कों का सपोर्ट करना पड़ेगा। रोडीज़ एक रियलिटी शो है जो युवाओं के बीच काफी प्रसिद्ध है। इस शो के हर पड़ाव में प्रतिभागियों को अलग-अलग चुनौतियों का सामना करना पड़ता है।

इलाहबाद का है मामला

स्पर्म डोनेशन के लिए सभी पुरुष प्रतिभागी इलाहाबाद के एक हॉस्पिटल के कमरे में पहुंचे हुए थे। उस दिन को याद करते हुए आयुष्मान बताते हैं कि उस कमरे में ‘हम दो हमारे दो’ लिखे हुए पोस्टर चिपके थे। उनके हाथ में छोटा सा डिब्बा दिया गया था। उनके स्पर्म के सैम्पल को सेलेक्ट कर लिया गया था। उनके स्पर्म की गुणवत्ता बाकियों के मुकाबले अच्छी निकली थी।

आयुष्मान ने अपने करियर में एक से बढ़कर एक फिल्में दी और लोगों को अपने अभिनय से दीवाना बना लिया। वे हर फिल्म में किसी नए सामाजिक विषय पर बात करते दिखते हैं। उनको बॉलीवुड की हिट मशीन बनने के लिए काफी संघर्ष करना पड़ा। अंधाधुन में उनके जबरदस्त प्रदर्शन के लिए राष्ट्रीय फ़िल्म पुरुस्कार भी दिया गया। अनुभव सिन्हा की ‘अनेक’ के बाद उनकी अगली फिल्म ‘डॉक्टर जी’ है जिसमें उनके अपोजिट रकुल प्रीत सिंह नज़र आएंगी। कमेंट में बताएँ कि आप ‘अनेक’ के लिए कितने उत्साहित हैं।

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here